जब अल्लाह ने सारे इनसानों को पैदा किया है तो उसमें से कुछ लोग बुरे कैसे हो गए ?

wheelchair-300x299एक सज्जन ने पूछा है कि जब अल्लाह ने सारे इनसानों को पैदा किया है तो उन में से कुछ लोग बुरे कैसे हो गए ?

इसका उत्तर यह है कि अल्लाह ने मानव को इस धरती पर परीक्षा हेतु पैदा किया और हर युग और हर देश में संदेष्टाओं द्वारा उनका मार्गदर्शन करता रहा कि तुम यदि एक अल्लाह के नियमानुसार जीवन बिताओगे तो सफलता पाओगे, परन्तु यदि उसके विरोध चलोगे तो नरक में जाओगे। लेकिन जब मानव ने अपने बीच संदेष्टाओं के हाथों पर चमत्कार उत्पन्न होते हुए  देखा तो किसी समूह ने उन्हें ईश्वर का बेटा मान लिया तो किसी ने उनको ईश्वर का रूप दे कर उन्हीं की पूजा शूरु कर दी।
अब क्या था … राक्षस को अवसर मिला मानव को पथभ्रष्ठ करने का … इस प्रकार वह  मानव को बुरे कर्मों में वयस्त करना शुरू कर दिया। मानव भी उनकी मानने लगा क्यों कि अल्लाह ने मानव को सही और ग़लत बताने के बाद अच्छा कर्म करने पर विवश नहीं किया था कि ऐसी परिस्थिति में परीक्षा अर्थहीन सिद्ध होता, इसी लिए उन्हें एखतियार दिया कि चाहे तो नरक में जाए, चाहे तो स्वर्ग में जाए, प्रश्नपत्र आउट है। इसी संदेश को बताने के लिए 124000 संदेष्टा भेजे गए, सब से अन्त में अल्लाह ने अपने अन्तिम संदेष्टा मुहम्मद सल्ल. को भेजा और उन पर क़ुरआन अवतरित किया, इनको सारे संसार के लिए भेजा और उनकी शिक्षाओं को प्रमाणित सिद्ध किया, इसी लिए आज ईश्वर तक पहुंचना है तो मात्र क़ुरआन ही हमें पहुंचा सकता है। क्यों कि यही एक सुरक्षित ग्रन्थ है जो हमारे सामने हमारे ईश्वर का सही संदेश परस्तुत करता है।
हमें आशा है कि इस तथ्य को जानने के पश्चात एकांत में इस्लाम के सम्बन्ध में चिंतन मनन करना शुरू करेंगे। हमारा काम संदेश पहुंचाना है मनवाना हमारा काम नहीं। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *